कांकेर
एक माह पहले मध्य प्रदेश के एटीएस ने इलाज करवाने जबलपुर पहुंचे 80 लाख के इनामी नक्सली डीकेएसजेडसी सदस्य अशोक रेड्डी उर्फ बलदेव को एटीएस द्वारा गिरफ्तार नक्सली की पहचान के रूप में की गई थी। जिसके बाद उसे न्यायिक रिमांड पर जबलपुर जेल भेजा गया था। गिरफ्तार नक्सली के खिलाफ कांकेर के थाना में अपराध दर्ज है। जिसके चलते पूछताछ के लिए कांकेर पुलिस ने उसे कांकेर लेकर आई है। बनागुडा मुठभेड़ मामले में कांकेर पुलिस गिरफ्तार नक्सली से पूछताछ करेगी। पुलिस को मुठभेड़ के दौरान जो सबूत मिले थे, उन सबूतों की पहचान और उससे जुड़ी अन्य अहम जानकारी भी नक्सली से निकालने का प्रयास करेगी।

उल्लेखनिय है कि कांकेर के छोटेबेठिया थाना क्षेत्र के ग्राम बिनागुडा में 12 जून को सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई थी। सर्चिंग के दौरान एक वदीर्धारी महिला नक्सली का शव के साथ 11 नग जिंदा कारतूस, 303 रायफल और अन्य सामाग्री भी बरामद किया गया था। पुलिस ने यह दावा किया था, कि मुठभेड़ स्थल पर मिले दो चश्मों में से एक चश्मा बलदेव यानी अशोक रेड्डी का और दूसरा चश्मा विजय रेड्डी का था। नक्सली डीकेएसजेडसी सदस्य अशोक रेड्डी उर्फ बलदेव और उसके अन्य 30 से 35 नक्सली घटनास्थल से भाग गए थे। गिरफ्तार नक्सली डीकेएसजेडसी सदस्य अशोक रेड्डी उर्फ बलदेव के खिलाफ कांकेर के छोटेबेठिया थाना में अपराध दर्ज है। इसके चलते पुलिस कांकेर न्यायालय से प्रोडक्शन वारंट लेकर जबलपुर जेल पहुंची। जबलपुर जेल से नक्सली को ट्रांजिट रिमांड पर लेकर 15 सितंबर को कांकेर लाया गया और कांकेर न्यायालय में पेश किया गया, जहां से उसे 20 सितंबर तक पुलिस रिमांड में पखांजुर एसडीओपी को सौंपा गया है। कांकेर पुलिस 20 सितंबर तक नक्सली से पूछताछ करेगी।

इस पूछताछ में नक्सलियों से जुड़े कई अहम जानकारियां कांकेर पुलिस को मिल सकती है। बनागुडा इनकाउंटर मामले में कांकेर पुलिस गिरफ्तार नक्सली से पूछताछ करेगी। पुलिस को मुठभेड़ के दौरान जो सबूत मिले थे, उन सबूतों की पहचान और उससे जुड़ी अन्य अहम जानकारी भी नक्सली से निकालने का प्रयास करेगी। नक्सली संगठन कांकेर में किस तरह से काम कर रहा है और कौन-कौन उनको मदद कर रहे है। इसकी भी जानकारी जुटाने का प्रयास पुलिस करगी।

पखांजुर एसडीओपी रवि कुजून ने बताया कि डीकेएसजेडसी अशोक रेड्डी उर्फ बलदेव रेड्डी उर्फ मनुराम नेताम निवासी ग्राम तिरूमलगिरी थाना तिरूमलगिरी, जिला नालगोडा, तेलगांना का निवासी है। जबलपुर जेल से लाया गया है और कांकेर न्यायालय में पेश किया गया है। जहां से 20 सितंबर तक पुलिस रिमांड के तहत पुलिस को सौंपा गया है।

Source : Agency