बक्सवाहा

पहले बारिश न होने और अब अतिवृष्टि से खरीफ फसलें बर्बाद हो चुकी हैं।  उड़द मूंग तिल की फसल खेतों में ही सड़ने  लगी है मंगलवार को दर्जन भर  गांव के  किसानों ने तहसील मुख्यालय पहुंचकर प्रदर्शन किया। और खराब हुई फसलों के बदले मुआवजे की मांग की।  इसके बाद तहसीलदार को ज्ञापन सौंपकर बर्बाद हुई फसलों का सर्वे कराकर जल्द से जल्द प्रशासनिक कार्रवाई की मांग की।


किसानों ने ज्ञापन के दौरान बताया कि क्षेत्र में लगातार रुक रुक कर बारिश  हो रही है।  जिससे किसानों के खेतों में कटी पड़ी ज्वार बाजरे की फसल जलमग्न हो चुकी है तेज हवा के साथ लगातार हो रही बारिश से किसानों की फसल चौपट हो चुकी है । जिससे किसान गहरे सदमे में है।  इस समय क्षेत्र का अन्नदाता विकट संकट के दौर से गुजर रहा है जिसको लेकर किसानों ने खेत की फसल की गिरदावरी करा कर मुआवजा दिलाया जाए ।  पूर्व में सोसायटीयों में किसानों को खाद उधार वितरित किया जाता था, अब वर्तमान में सोसायटीयो द्वारा खाद किसानों को नगद वितरित किया जा रहा है जिससे किसानों को भारी आर्थिक एवं मानसिक परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

 वर्तमान में किसानों की स्थिति किसी से छिपी नही है।  किस दयनीय   स्थिति से किसान गुजर रहे हैं। कोरोना जैसी महामारी के बीच किसान पूरी तरह से टूट चुका है। अब किसानों को थोड़ी बहुत आस सरकारी मुआवजे से ही है।
ज्ञापन के दौरान किसानों की मुख्य मांग थी कि सोसायटीयो में पूर्व की तरह किसानों को खाद वितरित किया जाए। जिससे किसानों को इस संकट भरे समय मे कुछ राहत मिल सके!ज्ञापन के दौरान तहसीलदार ने  किसानों को सम्बोधित करते हुए कहा कि किसानो के माध्यम से जो ज्ञापन प्राप्त हुआ है उसकी शीघ्र ही जांच कर सक्षम अधिकारी के समक्ष रिपोर्ट प्रस्तुत करेंगे और किसानों को उचित मात्रा में मुआवजा दिलाने का प्रयास करेंगे !

ज्ञापन में  मौजूद किसान

आशिक मंसूरी बक्सवाहा , विक्रम सिंह लोधी बक्सवाहा, अनीकेत सिंह कुही, गणेश सिंह सुनवाहा, राहुल सिंह, छोटू बारेला हिरदेपुर, बाबू तमरयाऊ,मलखान सिंह ,दिलीप सिंह जमिदार ,हरि सिंह देवरी,  गोपाल बारेला , उमेश वर्मा, प्रीतम यादव, कल्याण सिंह निवाऱ , तिलक सिंह लोधी चाची सेमरा, मुन्ना तिवारी, नारायण सिंह खमरिया , छत्रपाल सिंह गुगवारा , मुन्ना तिवारी, दिलीप सिंह, सहित दर्जनों की संख्या में मौजूद रहे!

Source : Agency