लखनऊ
यूपी में चल रहे सर्वे विवाद के बीच योगी सरकार मदरसा के प्रतिभाशाली बच्चों को सम्मानित करेगी। अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री धर्मपाल सिंह ने कहा कि मदरसे के कुछ प्रतिभाशाली बच्चे जिन्होंने एनईईटी (नीट) परीक्षा उत्तीर्ण की है, उन्हें सम्मानित किया जाए ताकि अन्य बच्चों में उच्च शिक्षा के प्रति जागरूकता उत्पन्न हो और मदरसों के बच्चों में आगे बढ़ने व पढ़ने की प्रेरणा जगाई जा सके।

उन्होंने कहा कि मदरसों की शिक्षा के आधुनिकीरण से छात्र एवं छात्राएं राज्य सरकार की मंशा के अनुसार डॉक्टर, इंजीनियर, आईएएस व उच्च पदों पर चयनित हो सकेंगे। यहीं नहीं मदरसों में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं को डायरेक्ट बेनीफिट ट्रांसफर (डीबीटी) के माध्यम से उनके या उनके अभिभावकों के खातों में धनराशि भेजी जाएगी। जिससे छात्र-छात्राएं सुविधानुसार किताबों को खरीद सकें।

धर्मपाल सिंह ने गैर मान्यता प्राप्त मदरसों का सर्वे कराने की प्रगति की समीक्षा करते हुए यह निर्देश दिए कि सर्वे कार्य के संबंध में सभी जिलों से सर्वे कार्य की प्रगति का पर्यवेक्षण नियमित रूप से किया जाए और सर्वे को लेकर किसी प्रकार की भ्रम की स्थिति उत्पन्न न होने पाए। उन्होंने कहा कि सर्वे कार्य केवल गैर मान्यता प्राप्त मदरसों की सूचना संकलित किए जाने के उद्देश्य से कराया जा रहा है न कि किसी प्रकार की जॉच से संबंधित है। उन्होंने कहा कि मदरसों की शिक्षा को गुणवत्तायुक्त एवं आधुनिक शिक्षा प्रणाली के अनुरूप बनाना राज्य सरकार का उद्देश्य है।

Source : Agency