नई दिल्ली
अमेरिका में सलमान रुश्दी पर हमले के बाद भारत में खुफिया एजेंसियां नूपुर शर्मा की सुरक्षा को लेकर चिंतित हो गई हैं। गौरतलब है अलकायदा की तरफ से मुस्लिमों से नूपुर शर्मा के बयान पर न्याय की बात कही गई है। भारतीय उपमहाद्वीप में मौजूद अलकायदा (एक्यूआईएस) ने जून में अपने एक प्रवक्ता के जरिए एक स्टेटमेंट जारी किया गया था। इसमें नुपूर के पैगंबर मोहम्मद पर दिए बयान का बदला लिए जाने की बात कही गई थी।

एक्यूआईएस ने पूछा सवाल
भारतीय उपमहाद्वीप में मौजूद अलकायदा के प्रवक्ता ने अपने बयान में कहा था कि पैगंबर पर नूपुर शर्मा द्वारा दिए गए बयान का बदला लेने के लिए वह लोग दिल्ली, गुजरात, उत्तर प्रदेश और मुंबई में खुद को उड़ा देने को तैयार हैं। सिर्फ इतना ही नहीं यह भी कहा गया था कि अगर हम मोहम्मद पैगंबर के सम्मान की रक्षा नहीं कर सकते तो हम तबाह हो जाएंगे। यह वीडियो उत्तर प्रदेश के संभल जिले से ताल्लुक रखने वाले एक्यूआईएस मुखिया आसिम उमर ने एक सवाल के तौर पर पोस्ट किया था। इसमें उसने पूछा था कि क्या कोई है जो पैगंबर मोहम्मद के सम्मान के लिए अपनी जान दे सकता है?

ओसामा और जवाहिरी की तस्वीर भी लगाई
सिर्फ इतना ही नहीं, ओसामा बिना लादेन की एक फोटो के साथ एक्यूआईएस ने कहा था कि अगर आपकी बोलने की आजादी नियंत्रण से बाहर हो रही है तो इसके लिए हम जो करने वाले हैं उसके लिए मानसिक रूप से तैयार रहिए। इसके अलावा हाल ही में मारे गए अयमान अल जवाहिरी की एक तस्वीर के साथ मुसलमानों से पूछा गया था कि उनका गुस्सा और आत्मसम्मान कहां है?

जबर्दस्त सुरक्षा में हैं नूपुर
फिलहाल नूपुर शर्मा को पुलिस की कस्टडी में किसी अनजान जगह रखा गया है। इसके अलावा बढ़ते खतरे को देखते हुए एजेंसियों ने उनकी सुरक्षा भी बढ़ानी शुरू कर दी है। गौरतलब है कि नूपुर शर्मा के समर्थन में पोस्ट करने पर पहले ही भारत में उदयपुर और अमरावती में दो लोगों की हत्या हो चुकी है। जहां उदयपुर में टेलर कन्हैया की दुकान में घुसकर उसका गला रेत दिया गया था। वहीं अमरावती में केमिस्ट उमेश कोल्हे को भी मौत के घाट उतार दिया गया था। इन दोनों ने ही सोशल मीडिया पर नूपुर शर्मा के समर्थन में पोस्ट किया था।

Source : Agency