नई दिल्ली
 
शिवसेना ने ज्ञानवापी मामले को लेकर भारतीय जनता पार्टी पर निशाना साधा है। सांसद संजय राउत का कहना है कि भाजपा 2024 आम चुनाव के लिए 'मंदिर-मस्जिद' के मुद्दे को भड़का रही है। उन्होंने श्रीलंका में जारी आर्थिक संकट का जिक्र किया और कहा कि केंद्र सरकार को महंगाई के मुद्दे पर ध्यान देना चाहिए। ज्ञानवापी मस्जिद सर्वे की रिपोर्ट गुरुवार को कोर्ट में दाखिल हो चुकी है।


बीते सप्ताह राउत ने कहा था कि राम जन्मभूमि आंदोलन के बाद और ऐसे में जब भगवान राम का मंदिर बन रहा है, तो देश को स्थिरता की जरूरत है। दिल्ली में पत्रकारों से बातचीत के दौरान राउत ने कहा, 'मुझे लगता है कि 2024 की तैयारियां इस तरह से की जा रही हैं कि देश में तनाव पैदा करने के लिए सभी ऐतिहासिक और धार्मिक स्थलों की खुदाई की जा रही है।' उन्होंने कहा कि काशी-मथुरा मंदिर शिवसेना जैसी हिंदुत्व पार्टियों के लिए जरूरी है, लेकिन केंद्र को महंगाई और अन्य मुद्दों पर बोलना चाहिए। सांसद ने कहा, 'काशी-मथुरा मंदिर का मुद्दा हमारे लिए जरूरी है, लेकिन दोनों पक्षों की तरफ से चुनाव लड़ने के मुद्दे पर दंगा भड़काने से बचना चाहिए। हम देख रहे हैं कि श्रीलंका में क्या हो रहा है। सभी पक्षों को ऐसे मुद्दों पर सावधानी से काम करना चाहिए।'

 शिवसेना नेता ने कहा कि विकास के नाम पर चुनाव लड़े जाने चाहिए। उन्होंने कहा, 'अयोध्या मंदिर के बनने के बाद ऐसे मुद्दों को आम सहमति से सुलझाया जाना चाहिए। पूरा समय इसमें बर्बाद किया जा रहा है कि ताजमहल और जामा मस्जिद के नीचे क्या है। कोई भी महंगाई, बेरोजगार और देश के आर्थिक हालात पर बात नहीं कर रहा है। चुनाव इन मुद्दों पर लड़े जाने चाहिए।'

 

Source : Agency