मेलबर्न
 दुनिया की नंबर वन ऐश्ले बार्टी ने खेल जगत को हैरान कर दिया है। उन्होंने सिर्फ 25 साल की उम्र में प्रफेशनल टेनिस को अलविदा कह दिया है। ऑस्ट्रेलिया की इस टेनिस खिलाड़ी ने बुधवार को सोशल मीडिया पर अपनी रिटायरमेंट का ऐलान कर दिया है। उन्होंने कहा कि वह अपने सपनों को पूरा करने के लिए ऐसा कर रही हैं।


उन्होंने एक वीडियो शेयर किया और लिखा, 'मैं बहुत खुश हूं और तैयार हूं। मैं इस लम्हे को अपने दिल में जानती हूं। और एक इनसान के तौर पर मुझे पता है कि यह सही है।'

बार्टी ने साल 2019 में फ्रेंच ओपन जीता था। वह उनका पहला ग्रैंड स्लैम खिताब था। इसके बाद बीते साल उन्होंने विंबलडन भी जीता था। इस साल जनवरी में ऑस्ट्रेलियन ओपन भी जीता। और 44 साल में वह पुरुष और महिला किसी में भी ऑस्ट्रेलियन ओपन जीतने वालीं पहली खिलाड़ी बनीं।


बार्टी ने बुधवार को कहा, 'मुझे समझ नहीं आ रहा था कि इस खबर को आपके साथ कैसे साझा करूं तो मैं अपनी दोस्त (ऑस्ट्रेलिया की रिटायर टेनिस खिलाड़ी केसी डेक्लुआ) से मदद मांगी।'

उन्होंने कहा, 'खेल ने मुझे जो दिया मैं उसके लिए काफी शुक्रगुजार हूं।' सेरेना विलियम्स इकलौती ऐसी महिला खिलाड़ी हैं जिन्होंने क्ले, ग्रास और हार्ड कोर्ट पर ग्रैंड स्लैम जीते हैं। महिला टेनिस असोसिएशन के अध्यक्ष स्टीव साइमन ने कहा कि बार्टी एक 'एक महान चैंपियन खिलाड़ी' थीं और उनकी कमी खलेगी।

बार्टी ने ऑस्ट्रेलियन ओपन जीतकर राष्ट्रीय हीरो के रूप में अपनी छवि मजबूत की थी। एक भावुक लम्हे में उन्हें एबऑरिजनल ऑस्ट्रेलियन टेनिस चैंपियन और मेंटॉर एवोन गूलागॉन्ग कॉउली ने उन्हें ट्रॉफी थमाई थी।

Source : Agency