• नसरूल्लागंज पुलिस ने किया चोरी की बड़ी घटना का खुलासा
  • चोरी करने वाले सभी आरोपियों की उम्र 20 से 22 साल

सीहोर
नसरूल्लागंज पुलिस ने 20 लाख रूपए की चोरी करने वाले गिरोह को पकड़कर बड़ा सफलता अर्जित की है। चोरी के आरोप में पकड़े गए सभी आरोपी पहले तो छोटी-मोटी घटनाओं को अंजाम देते थे, लेकिन उनकी जरूरतों एवं शौक ने उन्हें बड़ी घटनाएं करने पर विवश कर दिया। चोरी के आरोप में पकड़ाए सभी आरोपियों की उम्र 20 से 22 साल बताई जा रही है। पुलिस ने आरोपियों के पास से 307 ग्राम सोना व 5.5 किलो चांदी की ज्वैलरी कीमती 20 लाख रुपए एवं 2 मोटरसाइकिल जिनकी कीमती लगभग 1 लाख 70 हजार रुपए है, इन्हें भी बरामद किया।

जिलेभर में बढ़ती चोरी सहित अन्य घटनाओं को लेकर पुलिस अधीक्षक मयंक अवस्थी के निर्देश पर पुलिस टीम सक्रियता के साथ जुटी हुई है। यही कारण है कि पुलिस लगातार कई मामलों का खुलासा कर रही है। ऐसा ही खुलासा नसरूल्लागंज में हुई 20 लाख रूपए की चोरी का भी किया गया है। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक समीर यादव ने जानकारी देते हुए बताया कि पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर संदेही व्यक्ति वीरेंद्र उर्फ वीरू को उसके घर ग्राम बोरखेड़ा थाना नसरूल्लगंज से पकड़ा। पुलिस ने वीरेंद्र से सख्ती से पूछताछ की, जिसमें उसने 12 जनवरी को शास्त्री कॉलोनी में हुई घटना में अपने साथियों अतुल शर्मा, नमन मुकाती, शिवम राजपूत, कौशल राजपूत, दीपक मीणा, प्रदीप पंवार के साथ मिलकर चोरी करना स्वीकार किया। इसके अलावा पूर्व में दिनांक 16 दिसंबर 2021 को स्वप्न सिटी में अपने साथी शिवम राजपूत व दीपक मीणा के साथ मिलकर हुई चोरी करना भी स्वीकार किया। उक्त दोनों चोरियों की घटना में पुलिस ने सोना-चांदी के 20 लाख रुपए के जेवरात सहित अन्य सामान आरोपियों के कब्जे से जप्त किया है।

थाना प्रभारी कंचन सिंह ठाकुर के नेतृत्व में बनी टीम
चोरी के आरोपियों को पकड़ने के लिए पुलिस महानिरीक्षक (देहात जोन) इरशाद वली व पुलिस अधीक्षक मयंक अवस्थी के निर्देशन में तथा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक समीर यादव एवं एसडीओपी प्रकाश मिश्रा के मार्गदर्शन में टीम बनाई गई। इसका नेतृत्व नसरूल्लागंज थाना प्रभारी कंचन सिंह ठाकुर को दिया गया। इसमें पुलिस ने अपने मुखबिरों को भी सक्रिय किया। मुखबिरों द्वारा सूचना प्राप्त हुई कि शास्त्री कालोनी में 12 जनवरी 2022 को फरियादी रामचंद्र सोनी के साथ हुई चोरी की घटना एवं स्वप्न सिटी में प्रशांत यादव के घर में हुई चोरी की वारदात के आरोप उक्त चोरी के जेवरात को ठिकाने लगाने हेतु इधर-उधर घूम रहे हैं। इस घटना में वीरेंद्र उर्फ वीरु पंवार निवासी बोरखेड़ा कलां व उसके साथीगण के द्वारा घटित करने की सूचना प्राप्त हुई। इसमें जानकारी लगी कि मामले का मुख्य आरोपी वीरेन्द्र पंवार बोरखेड़ा से गोपालपुर तरफ रवाना हुआ है। तत्काल पुलिस टीम को गोपालपुर तरफ रवाना किया गया। मामले का संदेही वीरेन्द्र पंवार बोरखेड़ा के आगे गोपालपुर रोड पर मिला। वह पुलिस को देखकर भागने लगा, लेकिन पुलिस टीम ने उसे धरदबोचा।

कई चोरियों का हुआ खुलासा
पुलिस को चोरी के आरोपियों से कई अन्य चोरियों का खुलासा भी हुआ है। चोरी का मुख्य सरगना वीरेन्द्र उर्फ वीरेन्द्र पिता जगदीश पंवार उम्र 21 साल निवासी ग्राम बोरखेङा से 12 जनवरी 2022 को हुई शास्त्री कालोनी में चोरी करने व मशरुका सोने-चांदी के जेवरात कीमती 16 लाख रुपए व नगदी के संबध में पूछताछ की। इसमें उसने 12 जनवरी को रामचंद्र सोनी की दुकान शास्त्री कालोनी से सोने चांदी के जेवरात कीमत लगभग 16 लाख रुपए अपने साथियों के साथ चोरी करना कबूला। वीरेंद्र के अन्य साथियों में दीपक मीणा पिता भंवरसिंह निवासी पाचौर, शिवम पिता जितेन्द्र निवासी ऋषिनगर कालोनी, नमन पिता हुकुमसिंह निवासी नंदगांव, कौशल पिता भगवान सिंह राजपूत निवासी बोरखेड़ाकला, अतुल पिता महेश शर्मा निवासी ग्राम जोगला थे। पुलिस ने वीरेन्द्र उर्फ वीरु पंवार, दीपक मीणा, नमन मुकाती, अतुल शर्मा, शिवम राजपूत, कौशल राजपूत व प्रदीप पंवार को गिरफ्तार कर लिया है। एक अन्य आरोपी प्रकाश सोनी (मराठा) निवासी हरदा की गिरफ्तारी होना शेष है।

पहले करते थे रैकी, फिर करते थे चोरी
पुलिस पूछताछ में सामने आया कि पहले आरोपी चोरी करने वाले स्थानों की रैकी करते थे। उसके बाद घटना को अंजाम देते थे। इस मामले में भी चोरी के आरोपी विगत 15 दिनों से मामले के फरियादी रामचंद्र सोनी की रैकी कर रहे थे एवं इटावा खुर्द (गोपालपुर) से रामचंद्र का दुकान शास्त्री कालोनी तक आने-जाने का समय व उसके गतिविधियों पर नजर रखे हुए थे। घटना दिनांक को भी वीरेन्द्र उर्फ वीरु पंवार ने मौका पाते ही फरियादी रामचंद्र का सोना-चांदी से भरा बैग चोरी किया था। शिवम राजपूत व अतुल शर्मा घटनास्थल से कुछ दूरी पर बिना नंबर की पल्सर बाईक को चालू हालत में लेकर खड़े रहते थे। शिवम राजपूत व दीपक मीणा घटनास्थल की बगल की किराना दुकान के दुकानदार को बातों में लगाकर उसका ध्यान भटका रहे थे और कुछ दूरी पर कौशल राजपूत व नमन मुकाती आसपास के लोगों पर नजर बनाए हुए थे। उक्त घटना में प्रयुक्त मोटरसाइकिल दीपक मीणा की शाईन बाईक एमपी37एमएस6648 से व घटना के बाद सभी आरोपीगण मौका पाकर वहां से रफुचक्कर हो गए।

इनकी रही सराहनीय भूमिका
उक्त कार्रवाई में थाना प्रभारी नसरुल्लागंज कंचन सिंह ठाकुर, उनि श्यामकुमार सूर्यवंशी, उनि प्रवीण जाधव, उनि दीपक सरार्टी, सउनि मुकेश सिंह, सउनि मनोज दुबे (कोतवाली हरदा), प्रआर. धर्मेन्द्र गुर्जर, प्रआर. रामशंकर परते, आर. राजीव,आर. आनंद गुर्जर (अहमदपुर),. संजय राजपूत (गोपालपुर), आर दीपक जाटव, आर. योगेश कटारे, आर.विपिन जाट, आर. पुष्पेन्द्र जाट , आर.कपिल जाट, आर. राजेन्द्र चंद्रवशी, आर. अक्षय मीणा, आर. नीलेश शिवहरे, प्रकाश नर्रे (गोपालपुर), राहुल गौर (आष्टा), सतीश, वैशाली तिवारी, शैलेन्द्र मुकाती व साईबर सेल सीहोर के आर. सुशील साल्वे का सराहनीय योगदान रहा।

इनका कहना
लगातार हो रही चोरी की घटनाओं के बाद पुलिस अधीक्षक महोदय के निर्देष पर चोरों को पकड़ने के लिए अलग से टीम बनाई। इस टीम ने लगातार ऐसे लोगों पर नजर रखी, जिन पर संदेह था। इसमें मुखबिरों को भी सक्रिय किया गया। पुलिस टीम ने सक्रियता के साथ आरोपियों की धरपकड़ शुरू की। आगे भी हमारा अभियान जारी रहेगा। चोरी सहित अन्य घटनाओं को अंजाम देने वाले आरोपियों पर सख्ती रहेगी।
प्रकाश मिश्रा, एसडीओपी, नसरूल्लागंज, जिला सीहोर

Source : Agency