नई दिल्ली

शिवसेना सांसद प्रियंका चतुर्वेदी ने संसद के मानसून सत्र में 'अशोभनीय आचरण' को लेकर 11 अन्य लोगों के साथ राज्यसभा से निलंबन के बाद संसद टीवी से इस्तीफा दे दिया है। दरअसल, प्रियंका चतुर्वेदी संसद टीवी में एक कार्यक्रम में एंकर की जिम्मेदारी संभालती थीं। शो के एंकर के रूप में इस्तीफा देने को लेकर प्रियंका चतुर्वेदी ने राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू को एक पत्र लिखकर उसका कारण भी दिया है।

राज्यसभा के सभापति वेंकैया नायडू को लिखे एक पत्र में, उन्होंने कहा, 'यह बहुत दुख के साथ बताना पड़ रहा है कि मैं संसद टीवी के शो 'मेरी कहानी' के एंकर के रूप में पद छोड़ रही हूं, मैं ऐसी जगह पर किसी पद पर बने रहने के तैयार नहीं हूं, जहां मुझे मेरे प्राथमिक अधिकार से वंचित किया जा रहा है। यह हम 12 सांसदों के मनमाने निलंबन के कारण हुआ है। इसलिए, जितना मैं इस शो के करीब थी, उतना ही मुझे दूर जाना पड़ रहा है।'

'आवाज को दबाने की कोशिश की गई'
राज्यसभा के सभापति को पांच दिसंबर को लिखे पत्र में चतुर्वेदी ने आगे कहा है 'मेरे मनमाने निलंबन के बाद, जिसने स्थापित संसदीय मानदंडों और नियमों को पूरी तरह से कलंकित किया है, मेरी और मेरी पार्टी की आवाज को दबाने की कोशिश की गई। जब मुझे संविधान की प्राथमिक शपथ से वंचित किया जा रहा है, ऐसे में मैं संसद टीवी का दायित्व निभाने को अनिच्छुक हूं।'

Source : Agency