भोपाल
राजधानी में कड़ाके की ठंड पड़ना शुरू हो चुका है, लेकिन बीएमसी के जिम्मेदार अफसरों ने रैन बसेरा समेत सार्वजनिक स्थानों पर अब तक अलाव की कोई व्यवस्था नहीं की। इसके चलते खुले आसमान के नीचे ठंडी हवाओं के कारण बेसहारा लोगों की रात बड़ी मुश्किल से कट रही है। चूंकि शहर के सार्वजनिक स्थानों पर अलाव जलाने का जिम्मा निगम का है। इस काम की जिम्मेदारी निगम के अपर आयुक्त पवन कुमार सिंह और उपायुक्त विशाल सिंह पर है, लेकिन इन दोनों अफसरों ने अलाव जलावाने की तरफ ध्यान नहीं दिया। वहीं, क्षेत्रीय एएचओ की भी जिम्मेदारी बनती है कि वह अपने-अपने क्षेत्र के सार्वजनिक स्थानों पर अलाव जलवाएं, लेकिन उन्होंने भी उपायुक्त सिंह से लकड़ी की डिमांड नहीं की। इसका खामियाजा लोगों को भुगतना पड़ा।

नगर निगम शहर के रैन बसेरा, सरकारी अस्पताल, बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन समेत रात के समय जहां लोगों का आना-जाना होता है। वहां ठंड के सीजन में अलाव जलवाता है, लेकिन निगम के लापरवाह एएचओ के कारण उक्त स्थानों पर कहीं भी निगम की तरफ से अलाव नहीं जलाए गए। शहर में अलाव जलाने के लिए निगम के जोन कार्यालय 8 के सामने लकड़ी के स्टोर से लकड़ियां भेजी जाती हैं। निगम के एएचओ की तरफ से अब तक लकड़ियों की डिमांड नहीं की गई है।

Source : Agency