लखनऊ 
अब हफ्ते के सभी दिन 50 कुंतल से अधिक धान खरीदा जाएगा। अभी तक सोमवार से गुरुवार तक एक किसान से अधिकतम 50 कुंतल और शुक्रवार व शनिवार 50 कुंतल से अधिक धान खरीद का नियम था। खाद्य व रसद विभाग के विशेष सचिव राकेश कुमार मिश्र ने आदेश जारी कर दिया है।  वहीं अब किसान अपने जिले या सटे हुए जिले के किसी भी क्रय केन्द्र पर बिना अनुमति के धान बेच सकेंगे।

अभी तक किसान के जिले के जिलाधिकारी व संबंधित जिले के जिलाधिकारी के विचार-विमर्श कर धान विक्रय बेचा जा सकता है। लेकिन अब किसान किसी भी केन्द्र से धान का टोकन प्राप्त कर धान बेच सकेगा हालांकि उसे अगली बार भी उत्पादित धान की शेष मात्रा उसी केन्द्र पर बेचनी होगी। इसके अलावा अब सीतापुर में धान खरीद 12 अक्तूबर से 11 फरवरी, 2022 तक होगी। अभी तक सीतापुर में एक नवम्बर से 28 फरवरी,2022 तक खरीद का नियम बना था। 

किसान परेशान, व्यापारी कर रहे आनाकानी:
मेरठ जिले के रामराज स्थित धान मंडी में धान भारी मात्रा में आ रहा है, लेकिन व्यापारी धान लेने में आनाकानी कर रहे हैं। इस कारण किसान को दोहरी मार पड़ रही है। पहले ही किसान भारी वर्षा होने के कारण परेशान हैं वहीं धान मंडी में व्यापारी धान में नमी बताकर इसे लेने से इनकार कर रहे हैं। किसान लोकेश सिरोही, विजयपाल राठी, ब्रह्मपाल सिंह, जसवीर राणा झुनझुनी, अमित बंसल रामराज ने बताया की रामराज मंडी में धान भारी मात्रा में आ रहा है लेकिन वर्षा होने के कारण धान की फसल में भारी नुकसान हुआ है। वहीं, मंडी में व्यापारी धान में नमी बताकर खरीदने से इंकार कर देते हैं। बताया कि व्यापारी धान में नमी बताकर ओने पौने भाव में धान खरीदना चाहते हैं। उधर, किसान धान को तीन दिन तक मंडी में ही सुखाता है। फिर व्यापारी इसको खरीदता है। मंडी व्यापारी राजीव छाबड़ा रामराज ने बताया कि वर्षा अधिक होने के कारण मंडी में धान औसतन ही आ रहा है लेकिन उम्मीद है कि दो-चार दिन बाद धान फिर भारी मात्रा में आना शुरू हो जाएगा।

Source : Agency