नई दिल्ली
ब्रिटिश युवा खिलाड़ी एम्मा रादुकानु ने बुधवार को अमेरिकी ओपन सेमीफाइनल में पहुंचकर इतिहास रच दिया है। वे यूएस ओपन के सेमीफाइनल में पहुंचने वाली पहली क्वालिफायर बन गई हैं। उन्होंने इस मैच में आर्थर ऐश स्टेडियम में ओलंपिक चैंपियन बेलिंडा बेनसिक को 6-3 6-4 से हराया। 150वीं रैंकिंग वाली ब्रिटन ने तेजी से सुधार करते हुए चार सीधे गेम जीतकर पहले सेट को समाप्त कर दिया।  महज दो महीने पहले डेब्यू करने वाली ये 18 साल की खिलाड़ी अब तक क्वालीफाइंग से सेमीफाइनल तक के सभी 16 सेट जीते चुकी है। वह इस सप्ताह महिलाओं के ड्रा में अपना असर छोड़ने वाली दूसरी किशोरी हैं क्योंकि 19 वर्षीय कनाडाई लेयला फर्नांडीज भी अंतिम चार में पहुंच गई हैं। 

राडुकानू ने कहा, "यहां इतने सारे युवा खिलाड़ियों का इतना अच्छा प्रदर्शन करना दिखाता है कि अगली पीढ़ी कितनी मजबूत है।" "हर कोई अपने रास्ते पर है। मैं यहां केवल इस बात का ध्यान रख रही हूं कि मैं क्या नियंत्रित कर सकती हूं, और दिन के अंत में यह मेरी अपनी यात्रा है।" यूएस ओपन में खेलने से पहले राडुकानू ने यू.एस. में तीन हार्डकोर्ट प्रतियोगिताओं में भाग लिया था। खचाखच भरे कार्यक्रम के बावजूद, रादुकानु ने एक के बाद एक मैच जीतकर थकान के कोई संकेत नहीं दिखाए हैं और उनका मानना ​​है कि अतिरिक्त मैचों ने उनकी मदद की। 

कनाडा में एक चीनी मां और रोमानियाई पिता के घर पैदा हुए रादुकानू ने कहा, "चार हफ्तों के बाद, मुझे लगता है कि टूर्नामेंट में स्तर बनाने से मेरा खेल बेहतर होता गया। प्रत्येक उच्च स्तरीय टूर्नामेंट के साथ, मुझे अपना खेल बढ़ाना पड़ा।" "मुझे वास्तव में किसी भी रिकॉर्ड के बारे में कोई जानकारी नहीं है। आज मैंने पहली बार सुना है कि मैं (यूएस ओपन में) सेमीफाइनल में पहुंचने वाली पहली क्वालीफायर थी। मुझे इससे पहले कोई जानकारी नहीं थी मैं अभी किसी भी रिकॉर्ड का पीछा करने के लिए यहां नहीं हूं। मैं सिर्फ इस बात का ध्यान रख रही हूं कि मैं इस समय और आगे के मैच में क्या कर सकती हूं। अभी तक अगले के बारे में सोचना भी शुरू नहीं किया है।"
 

Source : Agency