टोक्यो

टोक्यो पैरालंपिक में भारत को मंगलवार को पी1-10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में सिंहराज अधाना ने ब्रॉन्ज मेडल जिताया। इस इवेंट में मनीष नरवाल सातवें नंबर पर रहे। इससे पहले महिलाओं की 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में भारत की रुबीना फ्रांसिस सातवें स्थान पर रही। वहीं आर्चरी में राकेश कुमार क्वार्टरफाइनल से बाहर हो गए। इस बीच, पुरुषों के ऊंची कूद टी63 फाइनल में भी भारत ने दो मेडल अपने नाम किए। मरियप्पन थंगावेलु फाइनल में शानदार प्रदर्शन करते हुए सिल्वर मेडल जीता जबकि इसी स्पर्धा में शरद कुमार को ब्रॉन्ज मेडल से संतोष करना पड़ा। टोक्यो पैरालंपिक में भारत का यह 10वां मेडल है।

टोक्यों खेलों की ऊंची कूद में भारत के अब तीन पदक हो गए. इससे पहले भारत के निषाद कुमार ने रविवार को पुरुषों की ऊंची कूद टी47 स्पर्धा में एशियाई रिकॉर्ड के साथ रजत पदक जीता था.

इसके साथ ही मरियप्पन थंगावेलु ने पैरालंपिक खेलों में लगातार दूसरा पदक जीतने का कारनामा किया है. उन्होंने इससे पहले रियो 2016 में भी गोल्ड पर कब्जा किया था. भाला फेंक पैरा एथलीट देवेंद्र झाझरिया के नाम पैरालंपिक में दो स्वर्ण (2004, 2016) पदक दर्ज हैं.

मौजूदा पैरालंपिक में भारत ने अब तक 10 पदक जीत लिये हैं. भारत के खाते में अब 2 स्वर्ण, 5 रजत और 3 कांस्य पदक हैं. यह पैरालंपिक के इतिहास में भारत का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है. रियो पैरालंपिक (2016) में भारत ने 2 स्वर्ण सहित 4 पदक जीते थे.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बधाई दी

मरियप्पन और शरद को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बधाई दी है. उन्होंने ट्वीट किया - ऊंचे और ऊंचे उड़ते हुए! मरियप्पन थंगावेलु निरंतरता और उत्कृष्टता का पर्याय हैं, रजत पदक जीतने पर उन्हें बधाई. भारत को उनके इस कारनामे पर गर्व है.

अदम्य! शरद कुमार ने कांस्य पदक जीतकर हर भारतीय के चेहरे पर मुस्कान ला दी है. उनकी जीवन यात्रा कई लोगों को प्रेरित करेगी. उन्हें बधाई.

शूटिंग में सिंहराज को कांस्य मिला

मंगलवार को ही टोक्यो पैरालंपिक्स की शूटिंग स्पर्धा में भारत के सिंहराज ने ब्रॉन्ज मेडल जीता. उन्होंने पुरुषों के 10 मीटर एयर पिस्टल SH1 के फाइनल में तीसरा स्थान हासिल किया. हरियाणा के पैरा शूटर ने 216.8 का स्कोर किया और भारत को कांस्य पदक दिलाया.

Source : Agency